Friday, April 27, 2007

रात जैसा दिन

काले सलेटी आकाश के बीचो बीच
कलौंछ कत्थई लाल अँधेरा फेंकता
चाक जितना बड़ा कटे चुकन्दर जैसा सूरज
गीले चिपचिपे ग्रह का बहुत लम्बा बैंगनी सियाह दिन
देख रहे हो तुम उसे यहाँ से
देख रहा है वह तुम्हे वहाँ से
रह गये तुम रह गये भाई इसी इत्मीनान में कि
बीच में कसे हैं इतने सारे प्रकाश वर्ष
जान नहीं पाये तुम
ना ही तुम्हारे साथ खड़ा मैं-
कब आया कब बीत गया
इस ग्रह पर भी बैंगनी सियाह दिन
खीजते रहे यहाँ हम ठोंकते-रगड़ते अपना माथा
खोजते रहे हबड़-धबड़
मेज़ की दराज़ों में डिस्पिरिन-सेरिडॉन
पता नहीं चला कि कब हुआ अपना भी सूरज
चाक से बड़ा चुकन्दर सा कत्थई कलौंछ
मैंने कहा सुनते हो भाई, ओ दूरबीन वाले
बचे हैं अब यहाँ माथा रगड़ते सिर्फ़ हम दो जन
बाकी सब गिर गये कत्थई लाल अँधेरे में
पता नहीं चला कि
चुपचाप आये एक और ग्रह के बोझ से
कब हुई पृथ्वी इतनी भारी
कि कक्षा से टूट कर गिरी चली जा रही है
अनन्त अँधेरी रात में
नीचे, नीचे.. .. और नीचे

7 comments:

रंजु said...

good one

dhurvirodhi said...

स्वागत चंद्रभूषण जी, आज अभय जी के चिठ्ठे पर आपके आने की पदचाप सुनी. आपकी रचनायें पढ़ कर और भी अधिक अच्छा लगा

saima said...

shri Dhurvirodhi
Aapke liye ek suchna--chandrabhushan ka naam mishra bhi hai.ab aapko adhik aashwasti milegi.Ab tak aap jaan gaye hoge ki Bodhi darasl Akhilesh Mishra hai jise Abhay Tiwari godi mein utha rahe hain.Ab doosri godi mein Chandrabhooshan Mishra ko uthaya.Dhurvirodhiji aap kya hai--Pandey,Dubey,Chaubey,Triwedi,Dwivedi...isi prakar ke kuchh?

saima said...

Pratibhawan Pandit kavi sawdhan ho jayen ab abhay tiwari dwara aapko prastut kiye jaane ki sambhawanayein kam hai kyonki ab unki dono godiyan bhar chuki hain.Jagah milne par paas diya jaayega.

अभय तिवारी said...

प्रिय साइमा.. आप क्यों जातिवाद फैलाने पर आमादा हैं..? क्या तक्लीफ़ है आपकी ? बयान करें अगर कर सका तो मदद करूँगा ..

saima said...

Aapne achha pahchana.Aap jo faila rahe hain use aap hi nam de sakte the jo ki aapne de diya.Bhagwan kasam main to bas aapke koshishon ko ek sequence mein laga rahi thi.Dukh pahuncha to nahin bolungi.Bolun ya nahin instruct karein.(Man ne ya na man ne ka adhikar mera to rahega na).Aap mardon ko gusa bahut jaldi aajata hai.Is par pratyaksha ne kuchh lika?Maneesha ka to maloom nahin.Karwat ek achha blog tha Jyotiben ka lekin ab patanahin band hi hai.

sa said...

AV,無碼,a片免費看,自拍貼圖,伊莉,微風論壇,成人聊天室,成人電影,成人文學,成人貼圖區,成人網站,一葉情貼圖片區,色情漫畫,言情小說,情色論壇,臺灣情色網,色情影片,色情,成人影城,080視訊聊天室,a片,A漫,h漫,麗的色遊戲,同志色教館,AV女優,SEX,咆哮小老鼠,85cc免費影片,正妹牆,ut聊天室,豆豆聊天室,聊天室,情色小說,aio,成人,微風成人,做愛,成人貼圖,18成人,嘟嘟成人網,aio交友愛情館,情色文學,色情小說,色情網站,情色,A片下載,嘟嘟情人色網,成人影片,成人圖片,成人文章,成人小說,成人漫畫,視訊聊天室,a片,AV女優,聊天室,情色,性愛